वज़न बढ़ने के 7 असली कारण जो आपको पता होने ही चाहिए

आज की जीवनशैली के चलते लोगो मे मोटापा बढ़ना एक आम बात है। मोटापा न सिर्फ आपके लुक को बिगाड़ता है बल्कि कई बीमारियों को साथ मे लाता है। आज के दौर मे ज़्यादातर लोगो मे वजन बढ़ना और पेट पर जमा फैट जमना एक आम समस्या है। इसका मुख्य कारण लोगो मे खान-पान और रहन-सहन का गलत तरीका है। लोग ज्यादा शारीरिक परिश्रम करना ही नहीं चाहते है।

वजन क्यो बढ़ता है जानिए असली कारणो को
वजन बढ़ने का विज्ञान बड़ा सीधा-साधा है। यदि आप खाने पीने के रूप मे जितनी कैलोरी ले रहे है उतनी बर्न नहीं करेंगे तो आपका वेट बढ़ना तय है। दरअसल बची हुई कैलोरी ही हमारे शरीर मे फैट के रूप मे इकट्ठा हो जाती है और हमारा वजन बढ़ जाता है। आइये जानिए वजन बढ़ने के क्या कारण हो सकते है?

  • भोजन :- वजन बढ़ने का सबसे प्रमुख कारण हमारा भोजन है। यदि हमारे खाने मे कैलोरी की मात्रा अधिक हो तो वजन बढ़ने के चान्स ज्यादा हो जाते है। अधिक तला-भुना, मसालेदार, देशी घी, मीठे पेय पदार्थ आदि का सेवन शरीर मे जरूरत से ज्यादा कैलोरी इकट्ठा करने लगती है जिसे हम बिना मेहनत के बर्न नहीं कर पाते और नतीजा हमारे बढ़े हुये वजन के रूप मे दिखाई देता है।
  • शारीरिक श्रम ना करना :- अगर आपकी दिनचर्या ऐसी है कि आपको ज्यादा हाथ-पाँव नहीं हिलाने पड़ते तो आपका वेट बढ़ना तय है। खास तौर पर जो लोग घर मे ही रहते है या दिनभर कुर्सी पर बैठ कर ही काम करते है उन्हे जान-बूझ कर अपनी जीवनशैली मे कुछ शारीरिक श्रम करनी चाहिए।
  • उम्र :- उम्र के साथ वजन का बढ़ना स्वाभाविक है। उम्र बढ़ने के साथ हमारी मांसपेशिया फैट मे बदल जाती है। फैट बढ़ने के कारण मधुमेह और उच्च तनाव होने का ख़तरा बढ़ जाता है। और मेटाबोलिस्म (उपापचयी क्रिया) मे कमी आ जाती है जिसके कारण ही महिलाओ मे वजन बढ़ने कि संभावना बढ़ जाती है।
  • आनुवंशिक कारण :- यदि आपके माता-पिता मे से किसी एक का भी वजन बहुत ज्यादा है तो आपका वजन भी ज्यादा होने की संभावना बढ़ जाती है। इसके अलावा जेनेटिक्स का असर भी पड़ता है।
  • लिंग :- आपका स्त्री या पुरुष होना भी आपके वजन पर असर डालता है। स्त्रियों के शरीर मे फैट की मात्रा पुरुषों कि अपेक्षा अधिक होती है। एक सामान्य वजन कि स्वस्थ स्त्री के शरीर मे 25% फैट होता है जबकि एक पुरुष मे यह मात्रा सिर्फ 15% होती है।
  • गर्भावस्था :- गर्भावस्था के दौरान वजन का बढ़ना एक समान्य प्रक्रिया है। आमतौर पर किसी महिला का वजन 5 से 10 किलो बढ़ जाता है जो कि शिशु को पोषण पहुचाने के लिए जरूरी है।
  • दवाइयाँ :- कुछ खास तरह की दवाइयाँ आपका वज़न बढ़ा सकती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *