स्वास्थ्य

क्या आप चलते हुए रास्ता भूल जाते हैं ? तो हो जाए सावधान !

आप कहीं जाते रहते है और थोड़ी दूर जाते ही आपको लगने लगता है कि आप गलत रास्ते पर चल रहे हैं क्या ऐसा आपके साथ अक्सर होता है ? अगर ऐसा होता है तो हो जाए सावधान क्योंकि इससे आपको मानसिक एवं शारीरिक परेशानियो का सामना करना पढ़ सकता है | आइये जानिए कि ऐसा किस कारण होता है और इससे किस तरह की परेशानिया हो सकती है |

हम अक्सर किसी न किसी तनाव मे होते है | ऐसा उस समय होता है जब हम कुछ सोच रहे होते हैं | किसी बात से परेशान होते है और चिंता करते है | ऐसी स्थिति मे अक्सर हम चलते हुए गलत रास्ते चलने लगते है इस ग़लती के लिए हमारा मस्तिष्क जिम्मेदार होता है |

रोज़मर्रा कि जिंदगी मे हम काम के प्रति इतने व्यस्त हो गए है जिसके चलते हमे मानसिक तनाव का सामना करना पड़ता है| इस तनाव के दौरान हमारे दिमाग का दायाँ भाग हमे बाएँ ओर चलने के लिए प्रेरित करता है| यूनिवर्सिटी ऑफ केंट के शोध मे मस्तिष्क के दो भागों कि सक्रियता को व्यक्ति के चलने से जोड़कर देखा गया है | शोध के दौरान यह पता चला कि मस्तिष्क के दो हिस्से आपस मे अलग-अलग प्रेरक तंत्रो के साथ जुड़े है और इसके कारण मानसिक अवरोध और मस्तिष्क के दाएं हिस्से की सक्रियता के बीच स्पष्ट संबंध का पता चला है |

अगर आप भी इस समस्या से ग्रसित है तो आपको अभी से सावधान होने कि जरूरत है क्योकि तनाव के चलते आप कभी भी असमंजस मे पढ़ सकते है आपको निर्णय लेने मे परेशानी हो सकती है | इस कारण आपका मस्तिष्क एकाग्र नहीं होगा | आपकी स्मरण शक्ति कमजोर होने लगेगी |

मानसिक तनाव के अलावा आपके साथ शारीरिक समस्याएं भी उत्पन्न होने लगेंगी | आपको विभिन्न दर्द, बार-बार सर्दी होना, अतिसार, कब्ज़, मतली, चक्कर आना, छाती मे दर्द, यौन इच्छा मे कमी होने की समस्या भी हो सकती है | आपके व्यवहार मे भी परिवर्तन आ सकता है | जो व्यक्ति धूम्रपान, मदिरापान या ड्रग का उपयोग नहीं करते वह इसका प्रयोग करने लगते है और जो व्यक्ति इनका सेवन कम करते है वह ज्यादा मात्रा मे सेवन करने लगते है | नींद के तरीके मे बदलाव हो सकता है | निराशा स्वभाव हो सकता है | आपके मिज़ाज मे व्यवहार को प्रभावित करने वाले उतार चढ़ाव हो सकते है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *